वर्जिन गर्ल की चूत में मोटा लंड-Hindi Sex Story

वर्जिन गर्ल की चूत में मोटा लंड
Hindi Sex Story

फर्स्ट लव वर्जिन सेक्स का मजा मैंने 19 साल की उम्र में कॉलेज के लड़के के साथ लिया गाँव से निकल कर शहर के कॉलेज में प्रवेश लिया और जल्दी ही एक दोस्त बना लिया सभी को नमस्कार मेरा नाम अक्षरा है मुझे घर पर सभी अक्षरा नाम से ही बुलाते हैं मैं मध्य प्रदेश से हूँ

मेरे घर पर मैं पापा और मम्मी हैं पापा और मम्मी दोनों सरकारी नौकरी करते हैं दोस्तो, इस वेबसाइट की सेक्स कहानियां मैं 2011 से पढ़ती आ रही हूँ पर आज पहली बार अपनी सेक्स कहानी लिख रही हूँ मुझे अन्तर्वासना वेबसाइट के बारे में मेरी सहेली ने बताया था तभी से मैं यहां पर कहानिया पढ़ती आई हूँ

यह 2013 की बात है मैं स्कूल की पढ़ाई गांव से पूरी कर चुकी थी. मैं कॉलेज में पढ़ने के लिए शहर में आई थी शहर आते वक्त मेरे साथ स्कूल की दोस्त छवि ही थी जिसने मेरे कॉलेज में दाखिला लिया था बाकी सभी सहेलियां शहर में तो थीं पर अलग कॉलेज और कोर्स में थीं

वर्जिन गर्ल की चूत में मोटा लंड

सावन का बरसता पानी ऑफिस गर्ल की गांड मारी-Office Sex Story

इधर कॉलेज के हॉस्टल में हम दोनों साथ में ही रहती थी कॉलेज में हमारे नए दोस्त बन गए थे क्लास में मेरी बहुत लड़कों से अच्छी दोस्ती हो गई थी मेरी क्लास में ही संजू भी था वह देखने में लंबा तगड़ा और मिलनसार लड़का था मेरी दोस्ती संजू से थी हम बहुत कम समय में एक दूसरे से बहुत अच्छे दोस्त बन गए थे

संजू और मैं फोन पर एक दूसरे को मैसेज भेज कर बातें करते थे हमारे बीच कभी कभी नॉनवेज बातें भी हो जाती थीं छवि भी इस बात को जानती थी उसने तो 3 महीनों में ही अपना एक ब्वॉयफ्रेंड भी बना लिया था इसी तरह से कॉलेज का एक सेमेस्टर निकल चुका था हर लड़की चाहती है कि उसे हर लड़का देखे

मैं ज़्यादातर सलवार कमीज़ ही पहन कर कॉलेज जाया करती थी. मैं जानबूझ कर थोड़ा गहरे गले वाला कुर्ता पहनती थी ताकि जरा सा ही झुकने पर मेरा क्लीवेज दिख जाए संजू देखने में अच्छा लड़का था उसके पापा एक फैक्ट्री के मलिक थे उसकी एक छोटी बहन थी जो 12 वीं में थी

उसकी मम्मी भी पापा के बिज़नेस में हाथ बंटाती थीं उसके पास पैसों की कोई कमी नहीं थी यह बात हमें भी कुछ दिनों पहले ही पता चली थी जब हम सभी फ्रेंड्स संजू के बर्थडे पर उसके घर गए थे संजू के घर का वैभव देख कर साफ पता चलता था कि उसके पापा रईस आदमी हैं पर संजू ने कभी भी अपने धन का घमंड नहीं किया था

वह दिल का साफ और अच्छा इंसान था संजू और मैं अक्सर क्लास बंक करके गार्डन में बातें करते रहते थे धीरे धीरे हमारे बीच नजदीकियां बढ़ती गईं वह मेरे करीब आने की कोशिश करता, मुझे छूने की कोशिश भी करता मैं भी उसे मना नहीं करती थी उसने वैलेंटाइन पर मुझे प्रपोज किया

मैंने भी कुछ ज्यादा सोचा नहीं और हां कर दी ऐसे ही समय गुजरता रहा कभी कभी वो मुझे मौका पाकर छेड़ता, मेरी गांड को मसल दिया करता था उसका ये स्पर्श अब मुझे भी अच्छा लगने लगा था हम दोनों मौका मिलते ही एक दूसरे को किस भी कर लिया करते थे वह मेरे मम्मे दबाने का मौका भी कभी नहीं छोड़ता था

फिर धीरे धीरे अब बात किस से बढ़कर बूब्स दबाने और चूसने तक आ चुकी थी मुझे कोई ऐतराज नहीं था. असल में मैंने ही फर्स्ट लव वर्जिन सेक्स का मजा ले लेना चाहती थी संजू चाहता था कि मैं लंड चूसूं पर मैंने मना कर दिया, मैंने उसका लंड कभी नहीं चूसा था बस इसी तरह चल रहा था संजू सेक्स के लिए आतुर हुआ जा रहा था

पर मैं एक अनजाने डर की वजह से उसे मना करके टाल दिया करती थी कुछ दिन बाद संजू ने कहा- आज रविवार है. पास में ही कहीं घूमने चलते हैं मैं भी फटाफट तैयार हो गयी वह मुझे लेने के लिए आया और हम दोनों बाइक पर घूमने के लिए निकल गए मैं छवि को बोल कर आई थी कि संजू के साथ में बाहर घूमने जा रही हूँ

मैंने संजू से पूछा- कहां चलना है तो उसने बताया- शहर से पास में ही बहुत बड़ा तालाब है. वहां चारों ओर जंगल हैं, घने पेड़ हैं, प्रकृति का नज़ारा है. मजा आएगा, वहीं चलते हैं मैं राजी हो गई वहां जाकर देखा तो कुछ ही लोग थे उनमें भी ज़्यादातर कपल दिख रहे थे तालाब के दूसरी ओर पानी बह रहा था तो वहां कुछ लोग नहा भी रहे थे

हम भी वहीं चले गए संजू ने कहा- क्या विचार है मैंने कहा- मैं नहीं आती वह मुझे ज़बरदस्ती खींच कर पानी में ले गया और हम दोनों पानी में मस्ती करने लगे वह मुझ पर पानी उड़ाता और गीला करने की कोशिश करता थोड़ी देर बाद हम दोनों थक कर वहीं पेड़ के नीचे बैठ गए और बातें करने लगे भीड़ कम होती गयी

संजू ने कहा- अक्षरा, चलो थोड़ा आगे आस-पास घूम कर आते हैं मैंने कहा- यहां क्या ही घूमेंगे पर वो नहीं माना और हम दोनों पैदल ही आगे बढ़ गए वहां कोई नहीं दिख रहा था थोड़ा और आगे गए तो एक बड़ी चट्टान के पीछे झाड़ियों में पेड़ के नीचे हमने एक कपल को देखा वो दोनों कपड़े पहन रहे थे

उन्होंने हमें नहीं देखा फिर संजू ने कहा- चलो अक्षरा, उनके निकलते ही वहीं चलते हैं मैं समझ गयी थी कि वहां पर जाने के बाद क्या होना है पर बिना कुछ कहे मैं भी चल दी वहां जाने के बाद संजू मेरे करीब आया और कहा- अक्षरा यहां अच्छा मौका है मैंने कहा- यहां खुले में किसी ने देख लिया तो नहीं बिल्कुल नहीं

उसने कहा- ठीक है पर किस तो कर ही सकते हैं इतने में उसने मेरे होंठों में अपने होंठों को डाल दिया उसके दोनों हाथ मेरे गर्दन को पकड़े थे और मेरे हाथ उसकी कमर को उसने अपनी जीभ मेरे मुँह के अन्दर तक डाल दी और मैंने भी मैं अपने बारे में बता दूँ कि मेरी उम्र उस समय 19 साल से थोड़ी ज़्यादा ही थी

मेरी हाइट 5 फुट 7 इंच की थी और 32-27-34 का मेरा फिगर था मैं काले रंग का टॉप पहने थी. वह बटरफ्लाई आस्तीन वाला था और उसके साथ मैंने जींस पहनी थी संजू की हाइट 5 फुट 10 इंच की थी वह जिम करता था तो बॉडी भी अच्छी थी उसकी उम्र भी 20 के आस पास ही थी

उसकी छाती पर हल्के बाल थे पर वह छाती को क्लीन नहीं करता था उसके लंड का साइज़ सच बोलूं तो 5.5 इंच का ही था बाकी सेक्स स्टोरी की तरह 8 या 10 इंच का नहीं था वह मुझे चूमने लगा करीब 5 मिनट के बाद उसने कहा- यहां जगह साफ़ है, आराम से बैठ जाओ

मैंने कहा- नहीं, कपड़े खराब हो गए तो प्राब्लम हो जाएगी. हॉस्टल भी जाना है उसने कहा- ठीक है तब उसने मुझे किस किया और मेरे मम्मे दबाने लगा फिर उसने कहा- अक्षरा आज तो लंड चूस लो प्लीज़ उसके बहुत कहने पर मैंने कहा- ठीक है पर तुम मुँह में नहीं झड़ोगे उसने कहा- ठीक है

वर्जिन गर्ल की चूत में मोटा लंड

पटना में मिली कुवारी लड़की जिसकी सील तोड़ी-First Time Sex Story

उसने अपनी जींस और अंडरवियर घुटनों तक उतार दी वह वहीं पेड़ के नीचे पत्थर पर टेक लेकर बैठ गया और उसने मुझे लंड चूसने के लिए इशारा किया मैंने अपने हाथ से उसके 5.5 इंच और 2.5 इंच मोटे लंड को पकड़ा तो संजू बोला- तुमने सेक्स क्लिप्स पॉर्न में देखा ही है

मैंने हां में इशारा करते हुए मुँह में लंड को लिया और चूसने लगी. मुझे स्वाद कुछ अच्छा नहीं लगा फिर भी धीरे धीरे करके मैं मुँह से लंड चूसने लगी वह जैसे दूसरी दुनिया में चला गया हो, आंखें बंद करके सिसकारियां लेने लगा मैं भी उसके लंड को मुँह में पूरा ले लेती और बाहर करती तो जीभ से उसके टोपे को चाट लेती

उसका रंग हल्का गुलाबी सा हो गया था फिर कुछ देर में उसने मेरे सर को धक्का देकर अलग किया और अपना सारा माल बाहर निकाल दिया उसने मुझसे कहा- टेस्ट करना चाहोगी मैंने कहा- नहीं उसने कहा- प्लीज एक बार देख लो, अच्छा लगे तो ठीक नहीं तो कोई बात नहीं

मैंने जीभ से थोड़ा चखा तो गर्म और नमकीन सा स्वाद आया अच्छा या बुरा कुछ समझ में नहीं आया संजू ने कहा- डार्लिंग लंड को थोड़ा सा चाट कर साफ कर दो प्लीज मैंने अपने मुँह से उसके लंड को चाट कर साफ कर दिया मुझे स्वाद ठीक लगा उसने अपने कपड़े पहन लिए तो मैंने कहा- अब चलते हैं

उसने कहा- अक्षरा अभी कहां, रुको तुमने आज तक अपनी चूत के दर्शन नहीं कराए हैं मैंने कहा- पर यहां खुले में नहीं बिल्कुल भी नहीं उसने मुझे खींच कर अपने करीब किया और मुझे किस करके कहा- अक्षरा, प्लीज आज अपने मम्मे और चूत के दर्शन करा दो, यहां कोई नहीं है

मैंने कहा- देखो कोई आ गया तो प्रॉब्लम हो जाएगी उसने कहा- कुछ नहीं होगा मैं हूँ सब संभाल लूंगा उसने मेरी जींस खोल दी और मेरे टॉप के ऊपर से ही बूब्स दबाने लगा वह उसमें ऊपर से हाथ डालने लगा मैंने कहा- ऐसे तो तुम टॉप फाड़ दोगे

तब मैंने जींस को नीचे किया ही था कि उसने झटके से मेरी पैंटी को घुटनों तक नीचे खिसका दिया फिर उसने कहा- मम्मे चूसना है मैंने टॉप को ऊपर किया और साथ ही ब्रा को भी, जिससे बिना उतारे मेरे बूब्स वो चूस सके पहली बार उसने मेरे बूब्स को पूरी तरह ढंग से देखा था और चूत को भी चूत में हल्के हल्के बाल थे

वह मेरे बूब्स को एक बच्चे की तरह पीने की कोशिश करने लगा मुझे भी मजा आने लगा मेरे दोनों बूब्स को चूसने के बाद उसने उन्ह हटाया ही था कि मैंने टॉप और ब्रा ठीक कर ली उसने कहा- अक्षरा अब तुझे जींस उतारनी पड़ेगी मैं भी उतावली हो रही थी तो जींस उतार दी

उसने कहा- अक्षरा एक टांग पत्थर पर रखो वह मेरे नीचे आकर बैठ कर मेरी चूत को चाटने लगा उसकी खुरदुरी जीभ मेरे अन्दर आग लगा रही थी वह अपनी उंगली से मेरी चूत को अन्दर बाहर कर रहा था इसी तरह मेरी चूत ने पानी निकाल दिया और संजू ने उसे चाट कर चूत को साफ़ कर दिया

फिर फटाफट कपड़े पहन कर हम दोनों वहां से निकल आए अब वासना की भूख दोनों को लग चुकी थी तो वापस हॉस्टल की ओर जाते समय संजू ने कहा- अक्षरा, मुझे तुम्हारे साथ सेक्स करना है मैंने भी हामी भरी लेकिन फर्स्ट लव वर्जिन सेक्स के लिए कोई सेफ जगह चाहिए थी होटल के लिए मैंने मना कर दिया था

संजू अपने दोस्त के फ्लैट के लिए जुगाड़ करने लग गया बस फिर जुगाड़ हो गया मैंने संजू से कहा- मैं बिना प्रोटेक्शन के नहीं करूंगी उसने कहा- ठीक है अक्षरा उस दिन पहले रास्ते में रुक कर हम दोनों ने खाना खा लिया और उसने मेडिकल से प्रोटेक्शन के लिए कंडोम ले लिया फिर हम दोनों फ्लैट पर पहुंच गए

दोस्त ने चाभी दी और कहा- फ्री हो जाओ तो कॉल कर देना वह किसी काम से बाहर चला गया संजू ने अन्दर से दरवाजा लॉक किया और मुझसे लिपट गया पहले उसने मेरे टॉप को निकाल दिया और मेरी नाभि को चूमा. ब्रा के ऊपर से ही बूब्स को दबाने लगा

ब्रा को खोलने से पहले उसे ऊपर की ओर खिसका कर बूब्स को चूमने लगा और फिर खड़े खड़े ही मुझे दीवार पर टिकाते हुए पलटा दिया मेरी ब्रा को पीछे से खोल कर वहीं फेंक दी उसने अपने पूरे कपड़े उतार दिए उसका लंड खड़ा होने लगा था वह मुझे उठा कर अन्दर ले गया और पलंग पर आते ही मेरी जींस उतार दी

फिर वह मेरे दूध अपने दोनों हाथों से मसलने लगा और उनका रसपान करते हुए निप्पल को काट देता जिससे मुझे दर्द के साथ साथ उत्तेजना भी बढ़ जाती वह मेरे कान गले गर्दन गालों को भी चूमता जिससे मैं और उत्तेजित हो जाती मेरी नाभि को चूमते हुए उसने मेरी पैंटी को भी उतार दिया और मेरी चूत में उंगली डाल कर अन्दर बाहर करने लगा

वह पूरी बॉडी पर किस करने लगा मेरे मुँह से हल्की हल्की आवाजें आ रही थीं उसने कहा- अक्षरा अब 69 करते हैं मैंने कहा- ठीक है वह मेरी चूत चाटता और अपनी उंगली रगड़ने लगता इससे मेरी उत्तेजना बढ़ती जा रही थी, जैसे मेरे शरीर में करंट का झटका लग रहा हो मैं भी उसके लंड को चूस रही थी

मेरी चूत गीली हो चुकी थी वह फिर उठा और जींस से कंडोम का पैकेट निकाल कर मुझे दे दिया मैंने पैकेट से कंडोम निकाल और संजू के लंड को पहना दिया बस उसने मुझे सीधा लेटाया और दोनों पैरों को अपने कंधे पर ले लिया, लंड को मेरी चूत के मुँह पर रगड़ने लगा जिससे मैं पागल सी हो गयी

फिर उसने चूत को थोड़ा सा अपने हाथ से खोला और अपना लंड मेरी चूत पर सैट कर दिया मेरा दिल धक धक करने लग गया था क्योंकि वो कभी भी झटके से लंड अन्दर डालने वाला था उसने कहा- अक्षरा रेडी मैंने इशारे में कहा- हम्म्म उसने झटके से लंड अन्दर किया

वो अभी लगभग आधा ही गया था कि मेरी एकदम से जोरदार चीख निकली उसने लंड को झट से बाहर किया और अन्दर पूरी ताकत के साथ डाला इस बार शायद लगभग पूरा चला गया था उसने फिर से एक बार लंड निकाल कर अन्दर डाला और मुझे चूमा मेरी आंखों में आंसू आ गए थे

उसने कहा- पहली बार में होता है अक्षरा फिर वह लंड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा अब दर्द धीरे धीरे कम हो रहा था और मजा आने लगा था वह स्पीड में मुझे चोदता जा रहा था मुझे भी मजा आ रहा था वह मेरे मम्मे दबाता हुआ लंड को स्पीड से अन्दर बाहर कर रहा कुछ देर मैं पहले झड़ गयी और वो मेरे बाद

वह मेरे ऊपर ऐसे ही लंड अन्दर डाल कर पड़ा रहा और मुझे किस करता रहा कुछ देर में उसका लंड छोटा सा हो गया और वह उसे बाहर निकाल कर बाथरूम में चला गया मैं बैठी और उंगली चूत की तरफ़ बढ़ाई तो उंगली पर लाल लाल खून सा था मेरी चूत फट चुकी थी

तभी संजू आया और मेरी उंगली में लाल खून देखकर बोला- अब तुम वर्जिन नहीं रही मैं बाथरूम में गयी जब मैं वापिस आई तो मैंने देखा संजू मेरी ब्रा पैंटी अपने हाथ में लिए देख रहा था मैंने कहा- लाओ दो इधर उसने कहा- नहीं, ये मैं ले जाऊंगा. पहली निशानी है इसमें तुम्हारी चूत की खुशबू है और ब्रा में भी

वर्जिन गर्ल की चूत में मोटा लंड

बाप ने बेटी की कुंवारी चूत चोदी-Baap Beti Ki Chudai

मैंने कहा- फिर मैं उसने कहा- मैं तुम्हें दूसरी गिफ्ट कर दूंगा मैंने अपने कपड़े पहन लिए संजू बोला- अक्षरा मजा आया मैंने कहा- आया तो सही, पर दर्द अब भी महसूस हो रहा है उसने कहा- ठीक हो जाओगी मैंने पूछा- मैं वर्जिन थी, तुम संजू ने कहा- मेरा भी पहला सेक्स था बस मुठ मार लिया करता था

मैं कुछ नहीं बोली उसने कहा- मैं तुम्हें फैशनेबल ब्रा पैंटी दूँ तो मैंने कहा- क्यों उसने कहा- थोड़ा सेक्सी पहनो मैंने कहा- घर उसने कहा- घर जाओ तो घर के हिसाब से और यहां रहो तो यहां के हिसाब से मैंने कहा- ठीक है फिर उसने मुझे हॉस्टल छोड़ा और मेरी चाल देखकर छवि मुस्करा दी उसने कहा- अक्षरा, आज तो चाल ही बदल गयी

हम दोनों बेस्ट फ्रेंड थीं, एक दूसरे से कोई बात नहीं छुपाती थीं उसे मैंने बताया कि आज मेरी पहली चुदाई कैसे हुई वह खुश हुई और बोली- आगे अब तो चुदाई में मजे ही आने हैं क्योंकि वह चुद चुकी थी उसके ब्वॉयफ्रेंड से तो उसे सब मालूम था दोस्तो, आपको मेरी फर्स्ट लव वर्जिन सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ बताएं

No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

एग्जाम पेपर के लिए चूत चुदवाई
Hindi Sex Story
एग्जाम पेपर के लिए चूत चुदवाई-Hindi Sex Story

मेरा नाम सुहाना है मैं रायपुर की रहने वाली हूँ मैं बहुत गोरी और सुंदर हूँ मेरे घर के आसपास के लकड़े मुझे माल सामान आईटम टोटा और ना जाने क्या क्या बुलाते है मैं अच्छी तरह से जानती हूँ की वो मुझे बहुत पसंद करते है और मेरे मस्त …

मामा की गर्लफ्रेंड को घोड़ी बना के चोदा
Hindi Sex Story
मामा की गर्लफ्रेंड को घोड़ी बना के चोदा-Hindi Sex Story

नमस्ते मित्रो मैं आप सबका चहेता गुड ब्वॉय सिंपल सीधा साधा मिडिल क्लास फैमिली का लड़का मेरी पहली कहानी की चूत चुदाई आखिर हो ही गयी आपने पढ़ी ही होगी दोस्तो आज मैं जो आपको गाँव की लड़की की चूत चुदाई कहानी सुनाने जा रहा हूँ। वो एक सच्ची घटना …

Hindi Sex Story
छोटे बूब्स वाली लड़की की चुदाई-Hindi Sex Story

मैं मसाज पार्लर में जॉब करता था, तो मुझे मसाज करना बहुत अच्छे से आती थी एक लड़की को उसकी चूची की मालिश के बहाने मैंने कैसे चोदा? पढ़ कर मजा लें। नमस्कार दोस्तो, मैं अर्जुन सिंह अपनी पहली और सच्ची हिंदी सेक्स कहानी बॉडी मसाज के बहाने चुदाई को …